पश्चिमी विचारक

मिल की प्रतिनिधि शासन संबंधी अवधारणा

             सन्दर्भ  परिचय, प्रजातंत्र के पक्ष में तर्क, प्रजातंत्र के प्रकार, प्रतिनिधि शासन का सिद्धांत, सरकार के कार्य, सच्चे प्रजातंत्र के लिए सुझाव, आलोचनाएं, परिचय – मिल ने प्रजातांत्रिक शासन व्यवस्था पर अपने विचार अपनी पुस्तक प्रतिनिधि शासन (representative government) में व्यक्त किया है। मिल ने शासन की उस प्रणाली …

मिल की प्रतिनिधि शासन संबंधी अवधारणा Read More »

जे. एस. मिल का स्वतंत्रता संबंधी विचार

जे. एस. मिल का स्वतंत्रता संबंधी विचार        CONTENT परिचय, स्वतंत्रता पर निबंध लिखने की प्रेरणा, स्वतंत्रता की परिभाषा, स्वतंत्रता के दार्शनिक आधार, स्वतंत्रता के प्रकार, स्वतंत्रता पर सीमाएं , आलोचनाएं, परिचय – जॉन स्टूअर्ट मिल का स्वतंत्रता संबंधी विचार ऑन लिबर्टी (1859) नामक ग्रंथ में निहित है। मिल का स्वतंत्रता संबंधी ग्रंथ …

जे. एस. मिल का स्वतंत्रता संबंधी विचार Read More »

उपयोगितावाद का सिद्धांत : बेंथम

उपयोगितावाद का सिद्धांत : बेंथम ( theory of utilitarianism : bentham )                     संदर्भ : उपयोगितावाद का अर्थ, उपयोगितावाद सिद्धांत के कुछ महत्वपूर्ण बिंदु , उपयोगितावाद की आलोचनाएं, उपयोगितावाद का सिद्धांत बेंथम की सबसे महत्वपूर्ण एवं अमूल्य देन है। उसके अन्य सभी राजनीतिक विचार उसके उपयोगितावाद …

उपयोगितावाद का सिद्धांत : बेंथम Read More »

दासता का सिद्धांत

अरस्तु की दासता सिद्धांत ( theory of slavery of aristotle)             CONTENT दास कौन है ? दासता के पक्ष में अरस्तू के विचार दासता के प्रकार दास प्रथा में सुधार के लिए सूत्र  आलोचना अरस्तु के अनुसार दास प्रथा नगर राज्यों के संपूर्ण विकास के लिए अति आवश्यक है। दासों …

दासता का सिद्धांत Read More »

अरस्तु की क्रांति का सिद्धांत

अरस्तु की क्रांति का सिद्धांत  (theory of revolution of aristotle)                    CONTENT क्रांति का अर्थ  क्रांतियों के प्रकार क्रांतियों के उद्देश्य क्रांति के कारण क्रांतियों को रोकने के उपाय आलोचनाएं   क्रांति का अर्थ  अरस्तु की क्रांति संबंधी धारणा तथा हमारी आज की क्रांति संबंधित धारणा में …

अरस्तु की क्रांति का सिद्धांत Read More »

अरस्तु का आदर्श राज्य

  अरस्तु का आदर्श राज्य ( ideal state of aristotle )                   CONTENT आदर्श राज्य का उद्देश्य आदर्श राज्य की विशेषताएं आदर्श राज्य के आवश्यक तत्व अरस्तु ने अपने ग्रंथ पॉलिटिक्स की सातवीं पुस्तक में अपने आदर्श राज्य का वर्णन किया है। अरस्तु के आदर्श राज्य का …

अरस्तु का आदर्श राज्य Read More »

प्लेटो का दार्शनिक शासक

  प्लेटो का दार्शनिक शासक                              CONTENT दार्शनिक शासक की विशेषताएं आलोचनाएं प्लेटो के अनुसार आत्मा के तीन तत्व – ज्ञान, साहस और वासना है। इन्हीं के अनुरूप समाज में ज्ञान प्रधान, भाव प्रधान और वासना प्रधान मनुष्य होते हैं। ज्ञान प्रधान …

प्लेटो का दार्शनिक शासक Read More »

प्लेटो का आदर्श राज्य

  प्लेटो का आदर्श राज्य             CONTENT राज्य और व्यक्ति का संबंध आदर्श राज्य का निर्माण आदर्श राज्य की आलोचना प्लेटो का आदर्श राज्य सभी आने वाले समय और सभी स्थानों के लिए एक आदर्श का प्रस्तुतीकरण है। उसने आदर्श राज्य की कल्पना करते समय उसकी व्यवहारिकता की उपेक्षा की …

प्लेटो का आदर्श राज्य Read More »

प्लेटो का साम्यवाद : संपत्ति और पत्नि

  प्लेटो का साम्यवाद : संपत्ति और पत्नि ( communism of plato : wives and property)                      content संपत्ति का साम्यवाद संपत्ति के साम्यवाद की आलोचना पत्नियों का साम्यवाद आलोचना प्लेटो ने अपने आदर्श राज्य के लक्ष्य की प्राप्ति हेतु दो साधनों को प्रतिपादित किया है – …

प्लेटो का साम्यवाद : संपत्ति और पत्नि Read More »

प्लेटो का मुख्य ग्रंथ रिपब्लिक

  प्लेटो का मुख्य ग्रंथ रिपब्लिक (platos republic) प्लेटो द्वारा राजदर्शन पर रचित सभी मुख्य ग्रंथों में से उसका ग्रंथ रिपब्लिक ( republic)सबसे मुख्य है, जिसे न्याय से संबंधित (concerning justice) के नाम से भी पुकारा जाता है क्योंकि प्लेटो ने इसके माध्यम से एक ऐसी आदर्श राज व्यवस्था का वर्णन किया है जो न्याय …

प्लेटो का मुख्य ग्रंथ रिपब्लिक Read More »

x