प्लेटो का साम्यवाद : संपत्ति और पत्नि

  प्लेटो का साम्यवाद : संपत्ति और पत्नि ( communism of plato : wives and property)                      content संपत्ति का साम्यवाद संपत्ति के साम्यवाद की आलोचना पत्नियों का साम्यवाद आलोचना प्लेटो ने अपने आदर्श राज्य के लक्ष्य की प्राप्ति हेतु दो साधनों को प्रतिपादित किया है – …

प्लेटो का साम्यवाद : संपत्ति और पत्नि Read More »

प्लेटो का मुख्य ग्रंथ रिपब्लिक

  प्लेटो का मुख्य ग्रंथ रिपब्लिक (platos republic) प्लेटो द्वारा राजदर्शन पर रचित सभी मुख्य ग्रंथों में से उसका ग्रंथ रिपब्लिक ( republic)सबसे मुख्य है, जिसे न्याय से संबंधित (concerning justice) के नाम से भी पुकारा जाता है क्योंकि प्लेटो ने इसके माध्यम से एक ऐसी आदर्श राज व्यवस्था का वर्णन किया है जो न्याय …

प्लेटो का मुख्य ग्रंथ रिपब्लिक Read More »

ऐतिहासिक भौतिकवाद

      इतिहास की आर्थिक व्याख्या का सिद्धांत (theory of economic interpretation)                 content परिचय समाज विकास की छः अवस्थाओं का वर्णन समाज की आर्थिक व्याख्या के निष्कर्ष आलोचना  परिचय – इतिहास की आर्थिक व्याख्या का सिद्धांत (theory of economic interpretation) अर्थात् ऐतिहासिक भौतिकवाद द्वंदात्मक भौतिकवाद के सिद्धांत …

ऐतिहासिक भौतिकवाद Read More »

द्वंदात्मक भौतिकवाद : कार्ल  मार्क्स

               CONTENT परिचय द्वंदात्मक पद्धति भौतिकवाद द्वन्दात्मक भौतिकवाद द्वन्दात्मक भौतिकवाद की विशेषताएं आलोचना मूल्यांकन परिचय –  द्वंदात्मक भौतिकवाद का सिद्धांत मार्क्स के संपूर्ण चिंतन का मूल आधार है। द्वंद का विचार मार्क्स ने हीगल से ग्रहण किया तथा भौतिकवाद का विचार फ्यूअरबाख से लिया। क्योंकि इस सिद्धांत का प्रतिपादन …

द्वंदात्मक भौतिकवाद : कार्ल  मार्क्स Read More »

भारतीय स्वतंत्रता अधिनियम 1947

  20 फरवरी 1947 को ब्रिटिश प्रधानमंत्री क्लीमेंट एटली ने घोषणा की कि 30 जून 1947 को भारत में ब्रिटिश शासन समाप्त हो जाएगा। इसके बाद सत्ता उत्तरदाई भारतीय हाथों में सौंप दी जाएगी। इस घोषणा पर मुस्लिम लीग ने आंदोलन किया और भारत के विभाजन की बात कही। 3 जून 1947 को ब्रिटिश सरकार …

भारतीय स्वतंत्रता अधिनियम 1947 Read More »

भारत शासन अधिनियम 1935

  भारत शासन अधिनियम 1935 यह अधिनियम भारत में पूर्ण उत्तरदाई सरकार के गठन में एक मील का पत्थर साबित हुआ। यह एक लंबा और विस्तृत दस्तावेज था जिसमें 321 धाराएं और 10 अनुसूचियां थी। अधिनियम की विशेषताएं – 1. इसने अखिल भारतीय संघ की स्थापना की, जिसमें राज्य और रियासतों को एक इकाई की …

भारत शासन अधिनियम 1935 Read More »

भारत शासन अधिनियम 1919

      भारत शासन अधिनियम 1919                            CONTENT       अधिनियम की विशेषताएं       साइमन आयोग       सांप्रदायिक अवार्ड     20 अगस्त 1917 को ब्रिटिश सरकार ने पहली बार घोषित किया कि उसका उद्देश्य भारत में क्रमिक …

भारत शासन अधिनियम 1919 Read More »

भारतीय संविधान का ऐतिहासिक पृष्ठभूमि

  भारतीय संविधान का ऐतिहासिक पृष्ठभूमि                                       CONTENT 1973 का रेगुलेटिंग एक्ट 1784 का पिट्स इंडिया एक्ट 1833 का चार्टर अधिनियम 1853 का चार्टर अधिनियम भारत में ईस्ट इंडिया कंपनी 1600 ई. में व्यापार करने आयी। महारानी …

भारतीय संविधान का ऐतिहासिक पृष्ठभूमि Read More »

उत्तर व्यवहारवाद

उत्तर व्यवहारवाद (post behaviouralism)                  CONTENT परिचय अर्थ उत्तर व्यवहारवाद के उदय के कारण उत्तर व्यवहारवाद के लक्षण (FEATURES) निष्कर्ष 1) परिचय – 1960 के दशक की समाप्ति से पहले डेविड ईस्टन के द्वारा व्यवहारवादी स्थिति पर एक प्रबल आक्रमण किया गया, जो स्वयं व्यवहारवादी क्रांति के प्रमुख …

उत्तर व्यवहारवाद Read More »

व्यवहारवाद

  व्यवहारवाद (Behaviouralism)                          CONTENT परिचय व्यवहारवाद का विकास व्यवहारवाद का स्वरूप और व्याख्या व्यवहारवाद की उपयोगिता या प्रभाव व्यवहारवाद की आलोचना परिचय – व्यवहारवाद या व्यवहारवादी उपागम राजनीतिक तथ्यों की व्याख्या और विश्लेषण करने का एक विशेष तरीका है, जिसे द्वितीय महायुद्ध के …

व्यवहारवाद Read More »