संप्रभुता की अवधारणा

संप्रभुता राज्य का एक अनिवार्य तत्व है और संप्रभुता के बिना राज्य की कल्पना ही नहीं की जा सकती है। राज्य के लिए संप्रभुता का वही महत्व है जो व्यक्ति के जीवन के लिए प्राणों का कहा जा सकता है। संप्रभुता के कारण ही राज्य को अन्य समुदायों से उच्चतर स्थिति प्राप्त होती है और …

संप्रभुता की अवधारणा Read More »